Hello Reader
Books in your Cart

Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition

Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
-20 %
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Surgical Strike (Commander Karan Saxena Series) Hindi Edition
Shorten the URL
Shorten the book link using GetPustak
Product Views: 368
₹160
₹199
Reward Points: 498
THIS OUTSTANDING BOOK COMES WITH AMIT KHAN'S AUTOGRAPH. नाम सुलतान फौजी। कश्मीरी आतंकवादी। उसने मुम्बई में एक बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम दिया, जिसमें सैंकड़ों निर्दोष शहरी मारे गये। सुलतान फौजी पकड़ा गया। एक ऐतिहासिक फैसले में उसे 26 जनवरी के दिन फाँसी की सजा दी जानी थी, ताकि पूरी दुनिया देखती कि हम देशद्रोहियों के साथ क्या करते हैं। लेकिन उससे पहले ही सुलतान फौजी जेल तोड़कर पाकिस्तान भाग निकला। तब यह मिशन सौंपा गया कमांडर करण सक्सेना को। कमांडर- जिसने सुलतान फौजी को पाकिस्तान में ही घुसकर मारा। वहीं अपने हाथों से फाँसी की सजा दी उसे। एक “सर्जिकल स्ट्राइक” कमांडर के अंदाज़ में। एक ऐसा यादगार उपन्यास, जिसे आप बारम्बार पढना चाहेंगे। About the Author- अमित खान का जन्म गाज़ियाबाद जनपद के पिलखुवा कस्बे में हुआ। उनके द्वारा लिखी गयी पहली कहानी मात्र १२ वर्ष की अल्प आयु में और पहला उपन्यास मात्र १५ वर..

Book Details

Pustak Details
Sold ByBook cafe Publication
AuthorAmit Khan
ISBN-109353214238
ISBN-139789353214234
Edition1
FormatPaperback
LanguageHindi
Publication Year2019
CategoryFiction

Reviews

Write a review

Note: HTML is not translated!
Bad Good
Captcha

Book Description

THIS OUTSTANDING BOOK COMES WITH AMIT KHAN'S AUTOGRAPH.


नाम सुलतान फौजी। कश्मीरी आतंकवादी। उसने मुम्बई में एक बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम दिया, जिसमें सैंकड़ों निर्दोष शहरी मारे गये। सुलतान फौजी पकड़ा गया। एक ऐतिहासिक फैसले में उसे 26 जनवरी के दिन फाँसी की सजा दी जानी थी, ताकि पूरी दुनिया देखती कि हम देशद्रोहियों के साथ क्या करते हैं। लेकिन उससे पहले ही सुलतान फौजी जेल तोड़कर पाकिस्तान भाग निकला। तब यह मिशन सौंपा गया कमांडर करण सक्सेना को। कमांडर- जिसने सुलतान फौजी को पाकिस्तान में ही घुसकर मारा। वहीं अपने हाथों से फाँसी की सजा दी उसे। एक “सर्जिकल स्ट्राइक” कमांडर के अंदाज़ में। एक ऐसा यादगार उपन्यास, जिसे आप बारम्बार पढना चाहेंगे। About the Author- अमित खान का जन्म गाज़ियाबाद जनपद के पिलखुवा कस्बे में हुआ। उनके द्वारा लिखी गयी पहली कहानी मात्र १२ वर्ष की अल्प आयु में और पहला उपन्यास मात्र १५ वर्ष की आयु में प्रकाशित हो गया था, जो संभवत विश्व रिकॉर्ड है। उनके द्वारा लिखी गयी कहानियाँ बहुत कम आयु में ही देश की बड़ी-बड़ी पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुईं। देश के बड़े प्रकाशन संस्थानों द्वारा अभी तक उनके द्वारा लिखे गये १०० से ज्यादा उपन्यास प्रकाशित हो चुके हैं। देश के प्रसिद्ध “राइटर फेस्टिवल्स” में उन्हें “स्पीकर” के तौर पर अपने विचार व्यक्त करने के लिये आमंत्रित किया जाता है। इसके अलावा आज उनका पात्र “कमांडर करण सक्सेना” हिंदी उपन्यास जगत में मील का पत्थर बन चुका है, जिस सीरीज पर उन्होंने ५८ उपन्यास लिखे। वह आजकल मुंबई में रहते हैं और मुंबई फ़िल्म इंडस्ट्री में भी काफी सक्रिय हैं। उनके द्वारा लिखी कथा, पटकथा, संवादों पर कई भाषाओँ (हिंदी-मराठी-पंजाबी) में फ़िल्में बन चुकी हैं और टी.वी. पर भी वह अभी तक अलग-अलग धारावाहिकों के कई सौ एपिसोड लिख चुके हैं।

Latest Books on PustakMandi

Seller Featured Products

Raise your Query?
Let's help