Hello Reader
Books in your Cart

Nek Banen, Shreshtha Banen - Paperback, Hindi

Nek Banen, Shreshtha Banen - Paperback, Hindi
Pre-Order -15 %

Advertisement

Subscribe to us!

Nek Banen, Shreshtha Banen - Paperback, Hindi
  • Stock Status: In Stock.
  • Publisher: Prabhat Prakashan
  • ISBN-13:  9789353229108
  • Total Pages:  176
  • Edition: 1
  • Book Language:  Hindi
  • Available Book Formats: Paperback
  • Year:  2020
  • Publication Date:  2020-01-01
No. Of Views: 527
₹213
₹250
Reward Points: 600
पुस्तक सार आपमें सीखने की ललक है, तो हर छोटे-से-छोटा वाकया जिंदगी के बड़े सबक दे सकता है, जिन्हें शायद आप कभी किताबों में नहीं पा सकेंगे। ****** सब्र महज समझदारी का ही सबूत नहीं है, बल्कि इससे आप खुद का और समाज का भला कर सकते हैं। ****** जरूरतमंद की मदद के लिए किया गया कोई काम कितना ही छोटा क्यों न हो, निश्चित रूप से वह आपके दर्द को कम करने या कम-से-कम उसका कुछ हिस्सा दूर करने में मददगार होता है। ****** अगर लोगों की जान बचाने के काम में ऐसे लोगों को लगाया जाए, जिन्होंने कभी खुद जीवन या मौत का अनुभव किया हो, तो उनके जीवन बचाने की दर उन लोगों की अपेक्षा ज्यादा होगी, जो इस काम के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किए गए हैं। ****** अगर आप बड़ा बनना चाहते हैं तो दिल बड़ा करना होगा और मितव्ययी बनना होगा। —इसी पुस्तक सेप्रसिद्ध लाइफ कोच और मैनेजमेंट गुरु एन. रघुरामन के ये विचार व्यक्ति की सोच में आम..
Pustak Details
Sold ByPrabhat Prakashan
AuthorN. Raghuraman
ISBN-139789353229108
Edition1
FormatPaperback
LanguageHindi
Pages176
Publication Date (YYYY-MM-DD)2020-01-01
Publication Year2020
CategorySELF-HELP , General

Reviews

Write a review

Note: HTML is not translated!
Bad Good
Captcha

Book Description

Nek Banen, Shreshtha Banen - Paperback, Hindi

पुस्तक सार आपमें सीखने की ललक है, तो हर छोटे-से-छोटा वाकया जिंदगी के बड़े सबक दे सकता है, जिन्हें शायद आप कभी किताबों में नहीं पा सकेंगे। ****** सब्र महज समझदारी का ही सबूत नहीं है, बल्कि इससे आप खुद का और समाज का भला कर सकते हैं। ****** जरूरतमंद की मदद के लिए किया गया कोई काम कितना ही छोटा क्यों न हो, निश्चित रूप से वह आपके दर्द को कम करने या कम-से-कम उसका कुछ हिस्सा दूर करने में मददगार होता है। ****** अगर लोगों की जान बचाने के काम में ऐसे लोगों को लगाया जाए, जिन्होंने कभी खुद जीवन या मौत का अनुभव किया हो, तो उनके जीवन बचाने की दर उन लोगों की अपेक्षा ज्यादा होगी, जो इस काम के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित किए गए हैं। ****** अगर आप बड़ा बनना चाहते हैं तो दिल बड़ा करना होगा और मितव्ययी बनना होगा। —इसी पुस्तक सेप्रसिद्ध लाइफ कोच और मैनेजमेंट गुरु एन. रघुरामन के ये विचार व्यक्ति की सोच में आमूलचूल परिवर्तन करने की अद्भुत क्षमता रखते हैं। मानवीय गुणों को सही मायने में अपने भीतर उतारकर ही हम जीवन में श्रेष्ठता, और उस श्रेष्ठता से सफलता प्राप्त कर सकते हैं। ये व्यावहारिक सूत्र आपके व्यक्तित्व को निखारकर उत्कर्ष और प्रगति का मार्ग प्रशस्त करेंगे।
Raise your Query?
Let's help