Hello Reader
Books in your Cart

Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover

Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
-4 %
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
Hindi Sahitya Gyankosh (1 to 7 Volume Set) - Hardcover
  • ISBN: 9788194088202
  • Edition: 1st Edition
  • Book Language: Hindi
  • Available Book Formats:Hardcover
  • Year: 2019
  • Brand: Vani Prakashan
Product Views: 79
  • Sold by Vani Prakashani
  • Seller Rating:    0 Reviews
  • Contact Seller
  • ₹4,800
    ₹5,000
    हिंदी साहित्य ज्ञानकोश साहित्य के विद्यार्थियों के लिए ही नहीं, उन सभी पाठकों और जिज्ञासुओं के लिए एक धरोहर है जो धर्म, संस्कृति, समाज-विज्ञान, मीडिया, कला-साहित्य, पर्यावरण आदि विषयों के साथ अपने देश और विश्व की सभ्यताओं को समझना चाहते हैं। पिछले 50 सालों में दुनिया में ज्ञान के जो विस्फोट हुए हैं, उनकी नई रोशनी में भारतीय भाषाओं में हिंदी में बना यह पहला ज्ञानकोश है। हिंदी साहित्य ज्ञानकोश का इस्तेमाल सहज ढंग से किया जा सकता है। इसके सातों खंड खुली खिड़कियों की तरह हैं। इन्हें अकारादि क्रम से देखा जा सकता है। इसके अलावा, पाठक विषयवार खंडों से अपनी रुचि और जरूरत के अनुसार प्रविष्टियाँ चुन कर पढ़ सकते हैं। यह ज्ञानकोश साहित्यिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अध्ययन की बनी चहारदीवारियों को तोड़ता है और पाठक को जीवंत बनाए रखता है। अतीत और पश्चिम से आच्छादित हुए बिना आलोचनात्मक समावेशिकता ही हिंदी सा..

    Reviews

    Ask for Review

    Write a book review

    Book Description

    हिंदी साहित्य ज्ञानकोश साहित्य के विद्यार्थियों के लिए ही नहीं, उन सभी पाठकों और जिज्ञासुओं के लिए एक धरोहर है जो धर्म, संस्कृति, समाज-विज्ञान, मीडिया, कला-साहित्य, पर्यावरण आदि विषयों के साथ अपने देश और विश्व की सभ्यताओं को समझना चाहते हैं। पिछले 50 सालों में दुनिया में ज्ञान के जो विस्फोट हुए हैं, उनकी नई रोशनी में भारतीय भाषाओं में हिंदी में बना यह पहला ज्ञानकोश है। हिंदी साहित्य ज्ञानकोश का इस्तेमाल सहज ढंग से किया जा सकता है। इसके सातों खंड खुली खिड़कियों की तरह हैं। इन्हें अकारादि क्रम से देखा जा सकता है। इसके अलावा, पाठक विषयवार खंडों से अपनी रुचि और जरूरत के अनुसार प्रविष्टियाँ चुन कर पढ़ सकते हैं। यह ज्ञानकोश साहित्यिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अध्ययन की बनी चहारदीवारियों को तोड़ता है और पाठक को जीवंत बनाए रखता है। अतीत और पश्चिम से आच्छादित हुए बिना आलोचनात्मक समावेशिकता ही हिंदी साहित्य ज्ञानकोश के निर्माण की बुनियादी दृष्टि रही है।

    Latest Books on PustakMandi

    Seller Featured Products