Hello Reader
Books in your Cart

Bharat ki Videsh Niti (भारत की विदेश नीति)

Bharat ki Videsh Niti (भारत की विदेश नीति)
-25 %

Advertisement

Subscribe to us!

Bharat ki Videsh Niti (भारत की विदेश नीति)
  • Stock Status: In Stock.
  • Publisher:  Oxford University Press
  • ISBN-13:  9780199485185
  • Total Pages:  456
  • Book Language:  Hindi
  • Available Book Formats: Paperback
  • Year:  2018
  • Publication Date:  2018-01-15
No. Of Views: 1109
₹296
₹395
Reward Points: 890
यह पुस्तक 1947 से 2010 तक भारत की विदेश नीति के उद्भव का एक व्यापक विवरण प्रस्तुत करता है। मुख्यत:, यह पुस्तक भारत के पड़ोसी राज्यों तथा वैश्विक व्यवस्था के अन्य प्रमुख राज्यों के साथ भारत के संबंध के रूप में व्यवस्थित है। इस पुस्तक के सभी अध्याय विश्लेषण के स्तर की पद्धति का प्रयोग करते हैं जो एक अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में मौलिक घटनाओं को व्यवस्थित करने हेतु एक सुस्थित वैचारिक पद्धति है। इस पुस्तक के अध्याय विश्व के विभिन्न हिस्सों में इसके घटनाक्रमों का विशद एवं स्पष्ट वर्णन प्रस्तुत करते हैं। यह पुस्तक इस कारण महत्त्वपूर्ण है क्युंकि भारतीय विदेश नीति के उद्भव पर कोई अन्य व्यवहार्य संपादित पुस्तक उपलब्ध नहीं है। हर एक अध्याय विश्लेषण के स्तर की पद्धति का प्रयोग करते हुए समान वैचारिक ढांचे का अनुसरण करता है। यह ढांचा भारत की विदेश नीति के उद्भव को व्यवस्थागत, राष्ट्रगत तथा निर्णयन के द..
Pustak Details
Sold ByOxford University Press
AuthorSumit Ganguly (सुमित गांगुली)
ISBN-139780199485185
FormatPaperback
LanguageHindi
Pages456
Publication Date (YYYY-MM-DD)2018-01-15
Publication Year2018
CategoryPolitics

Reviews

Write a review

Note: HTML is not translated!
Bad Good
Captcha

Book Description

Bharat ki Videsh Niti (भारत की विदेश नीति)

यह पुस्तक 1947 से 2010 तक भारत की विदेश नीति के उद्भव का एक व्यापक विवरण प्रस्तुत करता है। मुख्यत:, यह पुस्तक भारत के पड़ोसी राज्यों तथा वैश्विक व्यवस्था के अन्य प्रमुख राज्यों के साथ भारत के संबंध के रूप में व्यवस्थित है। इस पुस्तक के सभी अध्याय विश्लेषण के स्तर की पद्धति का प्रयोग करते हैं जो एक अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में मौलिक घटनाओं को व्यवस्थित करने हेतु एक सुस्थित वैचारिक पद्धति है। इस पुस्तक के अध्याय विश्व के विभिन्न हिस्सों में इसके घटनाक्रमों का विशद एवं स्पष्ट वर्णन प्रस्तुत करते हैं। यह पुस्तक इस कारण महत्त्वपूर्ण है क्युंकि भारतीय विदेश नीति के उद्भव पर कोई अन्य व्यवहार्य संपादित पुस्तक उपलब्ध नहीं है। हर एक अध्याय विश्लेषण के स्तर की पद्धति का प्रयोग करते हुए समान वैचारिक ढांचे का अनुसरण करता है। यह ढांचा भारत की विदेश नीति के उद्भव को व्यवस्थागत, राष्ट्रगत तथा निर्णयन के दृष्टिकोणों से देखता है। परिचयात्मक अध्याय में संपादक ध्यानपूर्वक विश्लेषण के स्तर के बौद्धिक पूर्ववृत्तों को सीधे, सरल, स्पष्ट तथा तर्कमूलक गद्य के रूप में प्रस्तुत करते हैं तथा इस पुस्तक के अध्यायों पर इसका प्रयोग करते हैं। English TranslationThis book provides a fairly comprehensive account of the evolution of India's foreign policy from 1947 to 2010. It is organized primarily in the form of India's relations with its neighbours and with key states in the global order. All the chapters in this volume utilize the level of analysis approach, a well-established conceptual scheme in the study of international politics in organizing the substantive cases. They provide crisp and lucid accounts of its developments in various parts of the world. The book is significant because there are no other viable edited volumes on the evolution of Indian foreign policy.Each chapter follows a common conceptual framework using the level of analysis approach. This framework looks at the evolution of India's foreign policy from the standpoints of systemic, national, and decision-making perspectives. In the introductory chapter, the editor carefully spells out the intellectual antecedents of the level of analysis framework in straightforward, lucid, and discursive prose, and applies to the subsequent chapters in the volume. This book is the Hindi translation of the English edition.
Raise your Query?
Let's help